eGyanvani

Welcome To eGyanvani!

Major Historical Events of Rajasthan

Major Historical Events of Rajasthan
Major Historical Events of Rajasthan

राजस्थान की प्रमुख ऐतिहासिक घटनाएँ

Yearwise Major Historical Events of Rajasthan are described here under-

राजस्थान की ऐतिहासिक घटनाओ के बारे में यहाँ वर्षानुसार कुछ घटनाक्रमों को बताया गया है। इसमें राजस्थान में की गयी स्थापनाएं, युद्ध, सभ्यताओं के बारे में संक्षिप्त में बताया गया हैं। उम्मीद है आपको यह जानकारी ज्ञानवर्धक रहेंगी।

5000  ई. पू.कालीवंग सभ्यता
3500 ई. पू.आहड़ सभ्यता
1000-600 ई. पू.आर्य सभ्यता
300 ई. पू. – 600 ई.जनपद युग
350 – 600 ई.गुप्त वंश का हस्तक्षेप
6 वी व 7 वी. शताब्दियांहूणों के आक्रमण, हूणों व गुर्जरों द्वारा राज्यों की स्थापना – हर्षवर्धन का हस्तक्षेप
728 ई.बाप्पा रावल द्वारा चितौड़ में मेवाड़ राज्य की स्थापना
967कछवाहा वंश घोलाराय द्वारा आमेर राज्य की स्थापना
1018महमूद गजनवी द्वारा प्रतिहार राज्य पर आक्रमण तथा विजय
1031दिलवाड़ा में विंमल शाह द्वारा आदिनाथ मंदिर का निर्माण
1113अजयराज द्वारा अजमेर (अजयमेरु) की स्थापना
1137कछवाहा वंश के दुलहराय द्वारा ढूँढ़ार राज्य की स्थापना
1156महारावल जैसलसिंह द्वारा जैसलमेर की स्थापना
1191मुहम्मद गोरी व पृथ्वीराज चौहान के मध्य तराइन का प्रथम युद्ध – मुहम्मद गोरी की पराजय
1192मुहम्मद गोरी व पृथ्वीराज चौहान के मध्य तराइन का द्वितीय युद्ध — पृथ्वीराज की पराजय
1195मुहम्मद गौरी द्वारा बयाना पर आक्रमण
1213मेवाड़ के सिंहासन पर जैत्रसिहं का बैठना
1230दिलवाड़ में तेजपाल व वस्तुपाल द्वारा नेमिनाथ मंदिर का निर्माण
1234रावल जैत्रसिंह द्वारा इल्तुतमिश पर विजय
1237रावल जैत्रसिंह द्वारा सुल्तान बलवन पर विजय
1242बूँदी राज्य की हाड़ा राज देशराज द्वारा स्थापना
1290हम्मीर द्वारा जलालुद्दीन का आक्रमण विफल करना
1301हम्मीर द्वारा अलाउद्दीन खिलजी के आक्रमण को विफल करना, षड़यन्त्र द्वारा पराजित रणथम्मौर के किले पर 11 जुलाई को तुर्की का आधिकार स्थापित
1302रत्नसिंह गुहिलों के सिहासन पर आरुढ़
1303अलाउद्दीन खिलजी द्वारा राणा रत्नसिंह पराजित, पद्मिनी का जौहर, चितौड़ पर खिलजी का अधिकार, चितौड़ का नाम बदलकर खिज्राबाद
1308कान्हडदेव चौहान खिलजी से पराजित, जालौर का खिलजी पर अधिकार
1326राणा हमीर द्वारा चितौड़ पर पुन: अधिकार
1433कुम्भा मेवाड़ के सिंहासन पर आरुढ़
1440महाराणा कुम्भा द्वारा चितौड़ में विजय स्तम्भ का निर्माण
1456महाराणा कुम्मा द्वारा मालवा के शासन महमूद खिलजी को परास्त करना, कुम्भा का शम्स खाँ को हराकर नागौर पर कब्जा
1457गुजरात व मालवा का मेवाड़ के विरुद्ध संयुक्त अभियान करना
1459राव जोधा द्वारा जोधपुर की स्थापना
1465राव बीका द्वारा बीकानेर राज्य की स्थापना
1488बीकानेर नगर का निर्माण पूर्ण
1509राणा संग्रामसिंह मेवाड़ के शासक बने
1518महाराणा जगमल सिंह द्वारा बाँसवाड़ राज्य की स्थापना
1527राणा संग्राम सिंह का बयाना पर अधिकार तथा बाबर के हाथों पराजय
1528राणा सांगा का निधन
1532राजा मालदेव द्वारा अपने पिता राव गंगा की हत्या पर मारवाड़ की सत्ता पर कब्जा
1538मालदेव का सिवाना व जालौर पर अधिपत्य
1541राजा मालदेव द्वारा हुमायू को निमंत्रण देना
1542राजा मालदेव का बीकानेर नरेश जैत्रसिंह को परास्त करना, जैत्रसिंह की मृत्यु, हुमायूँ का मारवाड़ सीमा मे प्रवेश
1544राजा मालदेव व शेरशह के मध्य जैतारण (सामेल) का युद्ध, मालदेव की पराजय
1547भारमल आमेर का शासक बना
1559राजा उदयसिंह द्वारा उदयपुर नगर की स्थापना
1562राजा मालदेव का निधन, मालदेव का तृतीय पुत्र राव चन्द्रसेन मारवाड़ के सिंहासन पर आरुढ
1562आमेर के राजा भारमल ने अपनी पुत्री का विवाह सांभर से सम्पन्न कराया
1564राव चन्द्रसेन की पराजय, जोधपुर मुगलों के अधीन
1569रणथम्भौर नरेश सुर्जन हाडा की राजा मानसिंह से सन्धि, हाड़ पराजित
1572राणा उदयसिंह की मृत्यु, महाराणा प्रताप का राज्याभिषेक
1572अकबर द्वारा रामसिंह को जोधपुर का शासक नियुक्त
1573राजा मानसिंह की महाराणा प्रताप से मुलाकात
1574बीकानेर नरेश कल्याणमल का निधन, रायसिंह का सिंहासनरुढ़ होना।
1576हल्दीघाटी का युद्ध, महाराणा प्रताप की सेना मुगल सेना से पराजित
1578मुगल सेना द्वारा कुम्भलगढ़ पर अधिकार, प्रताप का छप्पन की पहाड़ियों में प्रवेश। चावड़ को राजधानी बनाना
1580अकबर के दरबार के नवरत्नों में एक अब्दुल रहीम खानखाना को अकबर द्वारा राजस्थान का सूबेदार नियुक्त करना।
1589आमेर के राजा भारमल की मृत्यु, मानसिंह को सिंहासन मिला
1596राजा किशन सिंह द्वारा किशनगढ़ (अजमेर) की नीवं
1597महाराणा प्रताप की चांवड में मृत्यु
1605सम्राट अकबर ने राजा मानसिंह को 7000 मनसव प्रदान किये।
1614राजा मानसिंह की दक्षिण भारत में मृत्यु
1615राणा अमरसिंह द्वारा मुगलों से सन्धि
1621राजा मिर्जा जयसिंह आमेर का शासक नियुक्त
1625माधोसिंह द्वारा कोटा राज्य की स्थापना
1660राजा राजसिंह द्वारा राजसमन्द का निर्माण प्रारम्भ
1667जयसिंह की दक्षिण भारत में मृत्यु
1691राजा राजसिंह द्वारा नाथद्वारा मंदिर का निर्माण
1727सवाई जयसिंह द्वारा जयपुर नगर का स्थापना
1733जयपुर नरेश सवाई जयसिंह का मराठों से पराजित होना
1771कछवाहा वंश के राव प्रतापसिंह ने अलवा राज्य की नींव डाली
1818झाला वंशजों द्वारा झालावाड़ राज्य की स्थापना
1818मेवाड़ के राजपूतों द्वारा ईस्ट इंडिया कम्पनी से संधि
1838माधव सिंह द्वारा झालावाड़ की स्थापना
185728 मई को नसीरा बाद में सैनिक विद्रोह
1887राजकीय महाविद्यालय, अजमेर के छात्रों द्वारा कांग्रेस कमिटी का गठन
1903लार्ड कर्जन ने एडवर्ड – सप्तम के राज्यारोहण समारोह में उदयपुर के महाराणा फतेहसिंह को आमंत्रण और महाराणा द्वारा दिल्ली प्रस्थान
1918बिजोलिया किसान आन्दोलन
1922भील आन्दोलन प्रारम्भ
1938मेवाड़, अलवर, भरतपुर, प्रजामंडल गठित, सुभाषचन्द्र बोस की जोधपुर यात्रा
194531 दिसम्बर को अखिल भारतीय देशी राज्य लोक परिषद के अन्तर्गत राजपूताना प्रान्तीय सभा का गठन
194727 जून को रियासती विभाग की स्थापना
1947शाहपुरा में गोकुल लाल असावा के नेतृत्व में लोकप्रिय सरकार बनी जो 1948 में संयुक्त राजस्थान संघ में विलीन हो गई।

Read more about Rajasthan GK i.e. rivers, lakes, climates.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!